May 23, 2024

Arvind Kejriwal

केजरीवाल, स्वराज से शराब तक

अरविन्द केजरीवाल, अन्ना आंदोलन से निकला एक ऐसा नाम जो भ्रष्टाचार ख़त्म करने के लिए स्वराज का झंडा लेकर देश की राजनीती में आया। लेकिन केजरीवाल कि राजनीती कब स्वराज से शराब तक आ पहुंची ये देश की जनता को पता भी नहीं चला।

केजरीवाल तरह-तरह के वायदे करके देश की राजनीति में आये लेकिन सत्ता की चमक-धमक देख कर उसी चमक-धमक में खो गए। न सिर्फ सत्ता की चमक-धमक में खोये बल्कि आज स्वयं भी उसी भ्रष्टाचार में आकंठ डूबे हुवे नज़र आ रहे हैं।

अन्ना आंदोलन एक ऐसा आंदोलन है जो देश में भ्रष्टाचार को जड़ से ख़त्म करने के लिए कुछ लोगों से शुरू हुवा लेकिन देखते ही देखते कब इसमें हज़ारो आम जनता जुडी और हज़ारो से लाखो और फिर पूरा देश कब जुड़ गया पता भी नहीं चला।।
इस आंदोलन में देश के बहुत से जाने-माने साफ़-सुथरी छवि के सरकारी कर्मचारी नौकरी से त्यागपत्र देकर, रिटायर्ड ऑफिसर्स, वकील, न्यायाधीश और कुछ समाज सुधारक भी जुड़े और जिसमे से एक नाम अरविन्द केजरीवाल भी था।

अरविन्द केजरीवाल ने अन्ना आंदोलन के मंच से ही ऐलान किया था कि वो कभी राजनीती में नहीं आना चाहते लेकिन अन्ना आंदोलन ख़त्म होते होते वो राजीनीतिक पार्टी का ऐलान अन्ना आंदोलन के मंच से कर चुके थे।
राजनीतिक पार्टी बनाते वक़्त केजरीवाल ने कहा था कि वो राजनीती में देश की व्यवस्था बदलने के लिए आ रहे हैं। वो देश को भ्रष्टाचार मुक्त बनाना चाहते हैं और भ्रष्टाचार के विरुद्ध बाते करके उन्होंने आम आदमी पार्टी का गठन किया।

आम आदमी पार्टी का गठन करते समय केजरीवाल जी की कुछ कथनी और करनी इस प्रकार है:
1. पार्टी बनाते समय कहा करते थे कि वो कभी बड़ा बंगला नहीं लेंगे।
( लेकिन ये अलग बात है कि आज शीशमहल बनवाने के लिए 45 करोड़ रुपये से ज्यादा का जनता के गाढ़ी कमाई का पैसा बर्बाद कर चुके हैं )।

2. कभी कोई लक्ज़री गाड़ी या गाड़ियों का काफिला लेकर नहीं चलेंगे।
( वो अलग बात है कि आज उनके साथ गाड़ियों का एक बड़ा काफिला चलता है। )

3. केजरीवाल जी ने एक मंच से मनीष सिसोदिया, संजय सिंह कि तरफ इशारा करते हुवे यहाँ तक कहा था कि मनीष अगर तुम कोई घोटाला करोगे, तो तुम मेरे कोई सगे नहीं लगते तुम्हे भी जेल जाना पड़ेगा, संजय तुम अगर कोई घोटाला करोगे तुम्हे भी जेल जाना पड़ेगा तुम भी मेरे कोई सगे नहीं लगते। और मनीष अगर मैं भी कोई घोटाला करूँगा तो मुझे भी जेल जाना पड़ेगा मैं भी तुम्हारा कोई सगा नहीं लगता। कोई भी घोटाला करेगा जेल जाएगा।

विडंबना देखिये आज मनीष सिसोदिया हो, संजय सिंह हो या केजरीवाल आज सब के सब घोटालों में ही जेल के अंदर जा चुके हैं। कहते हैं कि सरस्वती जी दिन भर में एक बार जुबान पर जरूर आती हैं, तो ऐसा लगता है कि उस समय केजरीवाल जी के जुबान पर सरस्वती जी बैठी थी ।

4. केजरीवाल ने कहा था कि आरोप लगते ही वो इस्तीफा दे देंगे।
( लेकिन आज आरोप लगने के बाद शराब घोटाले के केस में न सिर्फ जेल में हैं बल्कि आज तिहाड़ जेल से सरकार भी चला रहे हैं। और तिहाड़ जेल से दिल्ली सरकार चला कर एक अलग ही मिशाल भी पेश कर रहे हैं जो आज तक के इतिहास में कभी नहीं हुवा वो मिशाल आने वाली पीढ़ियों के लिए सेट कर रहे हैं कि सरकार जेल से भी चलाया जा सकता है ) ।

5. केजरीवाल ने एक वायदा ये भी किया था कि कभी वो कांग्रेस पार्टी के साथ नहीं जायेंगे और न ही किसी भ्रष्ट पार्टी से गठबंधन करेंगे।
( परन्तु आज कांग्रेस पार्टी से गठबंधन करने के साथ ही, चारा चोरी के केस में न्यायलय से जिस लालू यादव को सजा हो चुकी है उनके साथ आज केजरीवाल जी चुनाव में मंच भी साझा कर रहे हैं) ।

जिस कांग्रेस पार्टी को केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के नेता भ्रष्ट बताते थे और बकायदे नाम लेकर कहते थे कि सोनिया गाँधी भ्रष्ट हैं, राहुल गाँधी भ्रष्ट हैं, प्रियंका-वाड्रा भ्रष्ट हैं, DMK, ए. राजा भ्रष्ट हैं, ममता बनर्जी भ्रष्ट हैं, लालू यादव भ्रष्ट हैं। एक तरफ से इनका नाम लेकर भ्रष्ट और चोर बताया था आज इन्ही लोगो के साथ केजरीवाल जी मंच साझा कर रहे हैं और उनके लिए वोट भी मांग रहे हैं।

दिल्ली की जनता भी आज सोच रही है कि क्या ये वही केजरीवाल जी हैं जो कभी भ्रष्टाचार पर इतनी बड़ी-बड़ी बातें किया करते थे और आरोप लगने पर ही मुख्यमंत्री पद छोड़ने तक की बात किया करते थे और आज पद छोड़ना तो दूर बल्कि जेल से ही सरकार चला रहे हैं।
क्या ये वही केजरीवाल हैं जो दिल्ली कि पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय शीला दीक्षित जी के हर कमरे में एयर कंडीशनर (AC) लगने पर और उनके बाथरूम में भी AC लगे होने पर पानी पी पीकर कोसा करते थे लाउडस्पीकर से शोर मचाकर बोला करते थे।
और आज खुद अपने शीशमहल में टॉयलेट की सीट भी 4-4 लाख का लगवा रखे हैं, इतना ही नहीं बल्कि शीशमहल में 8 करोड़ रुपये का पर्दा भी लगवा रखा है। शीशमहल में 10 करोड़ से ज्यादा रुपये का टेलीविज़न (TV) लगवा रखा है और शीशमहल में स्वीमिंग पूल भी बनवा रखा है केजरीवाल जी ने।
सच में दिल्ली की जनता जिस केजरीवाल जी को व् आम आदमी पार्टी को वोट दी थी वो जनता भी आज ये सोचने को मजबूर है कि क्या ये वही केजरीवाल जी हैं या फिर इन पर कांग्रेस पार्टी का और चारा घोटाले में सजा काट चुके लालू यादव जी के संगत का कुछ असर हुवा है जो राजनीति का कीचड़ साफ़ करते करते आज खुद ही कीचड़ में गंदे हो चुके हैं।

शराब घोटाला एक ऐसा घोटाला जिसमे केजरीवाल जी ने दिल्ली में लोगो को एक पर एक शराब की बोतल पकड़ाया। और प्रवर्तन निदेशालय के अनुसार इसके बदले में उन्हें (आम आदमी पार्टी को) मोटी रकम भी मिली जिसका उपयोग केजरीवाल जी ने गोवा के चुनावों में भी भरपूर किया।
अब क्या सच क्या गलत ये तो अदालत ही बताएगी या फिर केजरीवाल जी और लाभ पहुंचाने वाले खुद बताएँगे। इस शराब घोटाले में अन्य कुछ पार्टी के नेता समेत आम आदमी पार्टी के भी कुछ नेता गिरफ्तार हो चुके हैं जिनमे अरविन्द केजरीवाल, मनीष सिसोदिया और संजय सिंह शामिल हैं।

मनीष सिसोदिया 1 साल से ज्यादा से शराब घोटाले में जेल में बंद हैं और उनको न्यायलय से जमानत तक नहीं मिल रही और वही संजय सिंह भी तिहाड़ जेल में करीब 7 महीने से बंद थे।

अब केजरीवाल जी को भी न्यायलय जमानत नहीं दे रही और उन्हें भी तिहाड़ जेल के बैरक नंबर 2 में रखा गया है।
अब देखना ये है कि 15 दिन तिहाड़ में रहने के बाद केजरीवाल को न्यायलय से जमानत मिलती है या फिर तिहाड़ जेल में और समय काटना होगा केजरीवाल जी को।

%d bloggers like this: